विदिशा

बीमार अधिकारी पहुंचे मुख्यमंत्री से पुरुष्कार पाने


स्वच्छता सर्वेक्षण में नपा को मिले पुरुष्कार लेने पहुंचे पूर्व अधिकारी
गंजबासौदा :- शासन स्तर पर प्रतिवर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण का एक कार्यक्रम आयोजित होता है जिसमे प्रतिवर्ष प्रत्येक नगर निगम, पालिका , भाग लेती है और जो इसमें सर्वश्रेष्ठ आता है उन्हें पुरुष्कृत किया जाता है इसमें कई प्रकार की अलग अलग कैटेगरी निश्चित की जाती हैं इस वर्ष 25 हजार से 1 लाख की आवादी बाले नगरों की जब स्वच्छता सर्वेक्षण के पुरुष्कार की सूची प्रकाशित हुई तब उसमें नपा बासौदा का नाम आने से नगर के चहुंओर जनप्रतिनिधि हो, अधिकारी या नागरिक सभी मे खुशी की लहर दौड़ गई और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जब एक समारोह आयोजित करके भोपाल में सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को पुरुष्कृत किया गया तब गंजबासौदा नगर पालिका का प्रतिनिधित्व किया मेडिकल लगाकर छुट्टी पर चल रहे नपा अधिकारी सुधीर उपाध्याय ने ओर इसकी जानकारी स्वम् उपाध्याय ने एक शोसल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर नागरिकों को दी जिसके बाद नगर में चर्चाओं का बाजार गर्म है जब दैनिक सांध्य प्रकाश अखवार के संवाददाता ने पूर्व सीएमओ से इस बिषय में जानना चाहा तब उन्होंने कहा कि ये मेरा अधिकार था यह मेरे समय का काम था और ऊपर से मेरा ही नाम आया इसलिये में पुरुष्कार लेने गया था|
बीमारी का प्रमाण पत्र लगाकर अवकाश पर हैं मुख्य नगर पालिका अधिकारी
करीब दो माह पहले तक गंजबासौदा नगर पालिका परिषद के मुख्य नगर पालिका अधिकारी के पद पर आसीन थे सुधीर उपाध्याय लेकिन नगरीय प्रशासन ने प्रदेश के समस्त प्रभारी सीएमओ को उनके मूल पद पर भेजने का आदेश निकाल दिया चुकी उपाध्याय प्रभारी सीएमओ थे और उनका मुख्य पद आर आई था अब सीएमओ साहब मूल पद को ना स्वीकारते हुए स्वास्थ्य खराब होने का प्रमाण पत्र देकर लंबी छुट्टी पर चले गए और नगर पालिका में अधिकारी कुर्सी खाली हो गई फिर बाद में नगरीय प्रशासन ने पहले विदिशा ओर फिर बाद में शमशाबाद के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को गंजबासौदा का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया लेकिन जब स्वच्छता सर्वेक्षण के पुरष्कार की बारी आई तब नियमानुसार वर्तमान में अतिरिक्त प्रभार में जिम्मेदारी निभा रहे रणवीर सिंह राजपूत को मुख्यमंत्री से पुरुष्कार लेने जाना चाहिये था लेकिन पहुंच गए वो पुराने अधिकारी जो बीमारी का अवकाश देकर छुट्टी पर हैं अब प्रश्न ये उठता है कि अगर वह बीमार हैं तो बीमारी की अवस्था मे पुरुष्कार लेने जाने की क्या आवश्यकता थी और अगर वह बीमार नहीं हैं तो उन्हें झूट बोलकर छुट्टी पर जाने की क्या आवश्यकता थी और क्या गलत प्रमाण पत्र बनाने बाले डॉक्टर पर वैधानिक कार्यवाही होगी और जब बीमार नहीं हैं क्योंकि पुरुष्कार लेने 100 किलोमीटर दूर राजधानी पहुंच सकते हैं तो क्या नगरीय प्रशासन के आदेश अनुसार मूल पद पर नौकरी क्यों नही कर सकते क्या इसका जबाब कोई अधिकारी देगा या दोषियों पर कार्यवाही होगी |

इनका कहना है

नियमानुसार तो वर्तमान में ,मैं मुख्य नगर पालिका अधिकारी का दायित्व पर हूँ तो मुझे जाना चाहिये था लेकिन ऊपर के अधिकारियों के द्वारा पूर्व सीएमओ का नाम आ गया अब ये कैसे हुआ ये ऊपर के अधिकारी बता सकते हैं |
रणवीर सिंह राजपूत
मुख्य नगर पालिका अधिकारी

गंजबासौदा

स्वच्छता सर्वेक्षण मेरे समय हुआ था और पुरुष्कार तात्कालिक सीएमओ को मिलता है जो मेरा अधिकार था इसलिये में गया और मेरा ही नाम आया था |
सुधीर उपाध्याय
पूर्व मुख्य नगर पालिका अधिकारी गंजबासौदा

पब्लिक टीवी लाइव 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button