Uncategorized

जालसाजों ने राम मंदिर न्यास को भी नहीं छोड़ा, छह लाख रुपये फर्जी तरीके से निकाले

अयोध्या। राम मंदिर न्यास के खाते से दो फर्जी चेक की मदद से छह लाख रुपये निकालने और तीसरे चेक के जरिये 10 लाख रुपये स्थानांतरित करने के प्रयास को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। बैंक द्वारा तीसरे चेक की जांच के दौरान फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि न्यास के सचिव और विश्व हिंदू परिषद के नेता चंपत राय की शिकायत पर कोतवाली पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। अयोध्या के पुलिस उप महानिरीक्षक दीपक कुमार ने बताया हमने उस बैंक खाते पर रोक लगा दी है जिसमें पैसा स्थानांतरित किया गया। एक पुलिस टीम को लखनऊ और एक को मुंबई भेजा गया है, क्योंकि जिस खाते में पैसा स्थानांतरित किया गया वह महाराष्ट्र का है। उन्होंने बताया कि इस अपराध को अंजाम देने वालों ने फर्जी तरीके से स्थानांतरित की गई राशि में से चार लाख रुपये निकाल लिए हैं, जबकि दो लाख की राशि अभी भी खाते में है। एफआईआर के अनुसार भारतीय स्टेट बैंक(एसबीआई) में न्यास के खाते से एक सितंबर को 2.5 लाख रुपये की राशि फर्जी तरीके से स्थानांतरित की गई जबकि आठ सितंबर को दूसरे फर्जी चेक के जरिये 3.5 लाख रुपये स्थानांतरित किए गए। मामला तब पकड़ में आया जब लखनऊ से एसबीआई की वरिष्ठ अधिकारी ने यह पुष्टि करने के लिए राय को फोन किया कि न्यास ने 9.86 लाख रुपये स्थानांतरित करने के लिए चेक जारी किया है। एसबीआई की निकासी विभाग की उप प्रबंधक मोना रस्तोगी ने बताया कि चेक (बड़ी धनराशि वाले) निकासी से पहले हम अपने ग्राहकों को फोन करते हैं। मैंने खुद 9.86 लाख की राशि वाले चेक से निकासी को लेकर ग्राहक को फोन किया और कई बार कॉल करने के बाद ग्राहक (राय) ने फोन उठाया। उन्होंने कहा कि इस माह की शुरुआत में 2.5 लाख और 3.5 लाख की राशि वाले दोनों पहले फर्जी चेक में से प्रत्येक की निकासी से पहले निश्चित तौर पर बैंक अधिकारियों ने न्यास के पंजीकृत नंबर पर फोन किया होगा।

पब्लिक टीवी लाइव 24x7

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button